अपनी पसंद का समान निचे बॉक्स में लिख कर सर्च करे और बहुत ही कम दाम में उसे खरीदे

Photoshop video tutorials in hindi

Computer Duniya

बनाएं खास गिफ्ट

0
www.dilsebol.com पर लॉग ऑन करें। इस वेबसाइट की मदद से आप खास गिफ्ट बना सकते हैं। इसके अलावा आप अपनी टी-शर्ट, शर्ट, मग, माउस पैड इत्यादि पर अपना मनचाहा डिजाइन भी बना सकते हैं। इस साइट आपको आपको अपने मनमाफिक डिजाइन बनाने और सृजनात्मकता दिखाने का पूरा मौका देती है। जिसकी सहायता से आप खुलकर अपनी मनोभावना को व्यक्त कर सकते हैं।


होली पर हार्दिक बधाई

1
आप सब को मेरी ओर से होली पर्व पर आपको हार्दिक बधाई




orkut scraps

Orkut scraps




चुटकी में पीरियोडिक टेबल

0
हम जानते हैं कि एग्जाम सिर पर हैं और इन दिनों तुम लोग पढाई में जुटे होंगे। लेकिन क्या तुमने केमिस्ट्री में पीरियोडिक टेबल यानी आवर्त सारणी को ढंग से समझ लिया है? हम तुम्हें बताते हैं वह तरीका, जिससे पीरियोडिक टेबल को याद करने में ज्यादा दिक्कत नहीं होगी। फिर तुम यह नहीं कह पाओगे- फिजिक्स केमिस्ट्री बडी बेवफा, रात में याद करो, दिन को सफा..
http://www.ptable.com/ ऐसी ही वेबसाइट है, जिस पर सभी धातुओं के पीरियड टेबल दिए हुए हैं। वेबसाइट पर जाकर किसी भी धातु के नाम पर क्लिक कीजिए। पॉपअप खिडकी खुल जाएगी और उस पदार्थ की विकीपीडिया जानकारी मिल जाएगी। ये टेबल पीडीएफ और चित्र के रूप में डाउनलोड भी किए जा सकते हैं। इस साइट की खासियत है कि यह हिंदी में भी उपलब्ध है। साइंस में रुचि रखने वालों के लिए यह साइट काफी उपयोगी साबित हो सकती है।

मुफ्त मे SMS भेज

3
आज मै आपको ऐसी साइड के बारे मे बता रहा हुँ जिसके द्वारा आप मुफ्त मे SMS भेज सकते है। इससे भेजे गये SMS तुरन्त ही प्राप्त हो जाते है





इस साइड पर जाने के लिये यहाँ क्लिक करें

मुफ्त मे हिन्दी के साँफ्टवेयर

2
आज मै आपको ऐसी साइड के बारे मे बता रहा हुँ जहाँ से आप मुफ्त मे हिन्दी के साँफ्टवेयर की सीडी मंगा सकते है। मैंने तो मंगवा ली है अब आपकी बारी है। सीडी आग्रह के लिए आपको पंजीकरण करना होगा. पंजीकरण के लिए यहाँ क्लिक करें

सॉफ़्टवेयर व उपकरणों को बिना पंजीकरण के डाउनलोड किया जा सकता है  
 

इस साइड पर जाने के लिये यहाँ क्लिक करें

यू-ट्यूब से विडियो डाउनलोड करने का सबसे आसान तरीका

3
वैसे कई सोफ्टवेयर तथा तकनीकें है यू-ट्यूब से विडियो डाउनलोड करने की | पर मुझे एक बहुत ही सरल तरीका मिला है ,जिसमे न तो आपको किसी सोफ्टवेयर की मदद लेनी पड़ेगी और ना ही किसी ऑनलाइन ऍप्लिकेशन की मदद | 

आप जिस विडियो को डाउनलोड करना चाहते है ,उसी पेज के URL बार में youtube की जगह voobys लिखना है | ओर Enter मारना है बस आपके सामने विडियो फाइल डाउनलोड के लिए तैयार मिलेगी 



मै आपको उदाहरण के लिए दो विडियो के URL मे बदलाव करके बता रहा हूँ। इस विडियो का URL है  http://www.youtube.com/watch?v=Hs9us0xln-M
इसमे मैने  youtube की जगह लिखा है voobys अब इसका URL हो गया है
http://www.voobys.com/watch?v=Hs9us0xln-M
बस आपके सामने विडियो फाइल डाउनलोड के लिए तैयार है




इस विडियो का URL है  http://www.youtube.com/watch?v=I4Jd4d_ZsvA
इसमे मैने youtube की जगह लिखा है voobys अब इसका URL हो गया है
http://www.voobys.com/watch?v=I4Jd4d_ZsvA
बस आपके सामने विडियो फाइल डाउनलोड के लिए तैयार है


आप चाहो तो youtube से फिल्मे भी डाउनलोड कर सकते हो बस जो फिल्म देखनी हे उस पर क्लिक करे ओर URL मे youtube की जगह voobys लिख दे और Enter मार दे बस आपको पूरी फिल्म डाउनलोड के लिए तैयार मिलेगी

Youtube से फिल्म डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

हिंदी-टिप्स ब्लॉग

0
अगर आप अपना ब्लाँग बना रहे हो और आपको कोई परेशानी आ रही हो तो मै आपको ऐसे ब्लाँग के बारे मे बता रहा जहाँ आपकी हर परेशानी दूर हो सकती है। मै आज आशीष जी के ब्लाँग से कुछ लिनक्स दे रहा हुँ। सिधे आशीष जी के ब्लाँग पर जाने के लिए यहाँ क्लिक करे


श्री हनुमत्सहस्त्र नामावली

3

हनुमत्सहस्त्र नामावलीविनियोगः ॐ अस्य श्रीहनुमत्सहस्त्रनामस्तोत्रमन्त्रस्य ब्रह्मा ऋषिः हनुमान देवता,
अनुष्टुप छन्द, ह्रां बीजं श्रीं शक्ति, श्रीहनुमत्प्रीत्यर्थंतद्सहस्त्रनामभिरमुकसंख्यार्थ पुष्पादिद्रव्य समर्पणे विनियोगः।ध्यानःध्यायेद् बालदिवाकरद्युतिनिभ देवारिदर्पापहंदेवेन्द्रमुखप्रशा्तयकसं देदीप्यमान रुचा।
सुग्रीवादिसमतवानरयुतं सुव्यक्ततत्त्वप्रियंसंरक्तारुणलोचनं पवनजं पीताम्बरालंकृतम्।।
उद्यदादित्यसंकाशमुदारभुजविक्रमम्।कन्दर्पकोटिलावण्य सर्वविद्याविशारदम्।।
श्रीरामहृदयानन्दं भक्तकल्पमहीरुहम्।अभयं वरदं दोर्म्मा चिन्तयेन्मारुतात्मजम्।।
ॐ हनुमते नमः | ॐ श्री प्रदाय नमः | ॐ वायु पुत्राय नमः | ॐ रुद्राय नमः |
ॐ अनघाय नमः | ॐ अजराय नमः | ॐ अमृत्यवे नमः | ॐ वीरवीराय नमः |
ॐ ग्रामावासाय नमः | ॐ जनाश्रयाय नमः | ॐ धनदाय नमः | ॐ निर्गुणाय नमः |
ॐ अकायाय नमः | ॐ वीराय नमः | ॐ निधिपतये नमः | ॐ मुनये नमः |
ॐ पिंगाक्षाय नमः | ॐ वरदाय नमः | ॐ वाग्मीने नमः ।ॐ सीताशोकविनाशाय नमः |
ॐ शिवाय नमः | ॐ शर्वाय नमः | ॐ पराय नमः | ॐ अव्यक्ताय नमः |
ॐ व्यक्ताव्यक्ताय नमः | ॐ रसाधराय नमः | ॐ पिंगकेशाय नमः | ॐ पिंगरोमम्णे नमः ।
ॐ श्रुतिगम्याय नमः | ॐ सनातनाय नमः | ॐ अनादये नमः | ॐ भगवते नमः |
ॐ देवाय नमः | ॐ विश्वहेतवे नमः | ॐ निरामयाय नमः | ॐ आरोग्यकर्त्रे नमः ।
ॐ विश्वेशाय नमः | ॐ विश्वनाथाय नमः | ॐ हरीश्वराय नमः | ॐ भर्गाय नमः |
ॐ रामाय नमः | ॐ रामभक्ताय नमः | ॐ कल्याणाय नमः | ॐ प्रकृतिस्थिराय नमः |
ॐ विश्वम्भराय नमः | ॐ विश्वमूर्तये नमः | ॐ विश्वाकाराय नमः | ॐ विश्वदाय नमः |
ॐ विश्वात्मने नमः | ॐ विश्वसेव्याय नमः | ॐ विश्वाय नमः | ॐ विश्वराय नमः |
ॐ रवये नमः | ॐ विश्वचेष्टाय नमः | ॐ विश्वगम्याय नमः | ॐ विश्वध्येयाय नमः |
ॐ कलाधराय नमः | ॐ प्लवंगमाय नमः | ॐ कपिश्रेष्टाय नमः | ॐ ज्येष्ठाय नमः ।
ॐ विद्यावते नमः | ॐ वनेचराय नमः | ॐ बालाय नमः | ॐ वृद्धाय नमः | ॐ यूने नमः ।
ॐ तत्त्वाय नमः | ॐ तत्त्वगम्याय नमः | ॐ सख्ये नमः | ॐ अजाय नमः |
ॐ अन्जनासूनवे नमः | ॐ अव्यग्राय नमः | ॐ ग्रामख्याताय नमः | ॐ धराधराय नमः |
ॐ भूर्लोकाय नमः | ॐ भुवर्लोकाय नमः ।ॐ स्वर्लोकाय नमः | ॐ महर्लोकाय नमः |
ॐ जनलोकय नमः | ॐ तपसे नमः | ॐ अव्ययाय नमः | ॐ सत्ययाय नमः |
ॐ ओंकारगम्याय नमः | ॐ प्रणवाय नमः | ॐ व्यापकाय नमः | ॐ अमलाय नमः |
ॐ शिवाय नमः | ॐ धर्मप्रतिष्ठात्रे नमः ।ॐ रामेष्टाय नमः | ॐ फाल्गुणप्रियाय नमः |
ॐ गोष्पदिने नमः | ॐ कृतवारीशाय नमः | ॐ पूर्णकामाय नमः | ॐ धराधिपाय नमः |
ॐ रक्षोघ्नाय नमः | ॐ पुण्डरीकाक्षाय नमः | ॐ शरणागतवत्सलाय नमः |
ॐ जानकीप्राणदात्रे नमः | ॐ रक्षःप्राणहारकाय नमः | ॐ पूर्णाय नमः ।ॐ सत्याय नमः|
ॐ पीतवाससे नमः ।ॐ दिवाकरसमप्रभाय नमः | ॐ देवोद्यानविहारीणे नमः ।
ॐ देवताभयभञ्जनाय नमः ।ॐ भक्तोदयाय नमः ।ॐ भक्तलब्धाय नमः ।
ॐ भक्तपालनतत्पराय नमः ।ॐ द्रोणहर्षाय नमः ।ॐ शक्तिनेत्राय नमः ।ॐ शक्तये नमः |
ॐ राक्षसमारकाय नमः | ॐ अक्षघ्नाय नमः | ॐ रामदूताय नमः |
ॐ शाकिनीजीवहारकाय नमः | ॐ बुबुकारहतारातये नमः |ॐ गर्वाय नमः |
ॐ पर्वतमर्दनाय नमः | ॐ हेतवे नमः | ॐ अहेतवे नमः | ॐ प्रांशवे नमः |
ॐ विश्वभर्ताय नमः ।ॐ जगद्गुरवे नमः | ॐ जगन्नेत्रे नमः ।ॐ जगन्नथाय नमः |
ॐ जगदीशाय नमः | ॐ जनेश्वराय नमः | ॐ जगद्धिताय नमः ।ॐ हरये नमः |
ॐ श्रीशाय नमः | ॐ गरुडस्मयभंजनाय नमः | ॐ पार्थध्वजाय नमः | ॐ वायुपुत्राय नमः |
ॐ अमितपुच्छाय नमः | ॐ अमितविक्रमाय नमः | ॐ ब्रह्मपुच्छाय नमः |
ॐ परब्रह्मपुच्छाय नमः | ॐ रामेष्टकारकाय नमः | ॐ सुग्रीवादियुताय नमः |
ॐ ज्ञानिने नमः ।ॐ वानराय नमः | ॐ वानरेश्वराय नमः | ॐ कल्पस्थायिने नमः ।
ॐ चिरंजीविने नमः ।ॐ तपनाय नमः | ॐ सदाशिवाय नमः | ॐ सन्नताय नमः |
ॐ सद्गते नमः | ॐ भुक्तिमुक्तिदाय नमः | ॐ कीर्तिदायकाय नमः | ॐ कीर्तये नमः |
ॐ कीर्तिप्रदाय नमः | ॐ समुद्राय नमः | ॐ श्रीप्रदाय नमः | ॐ शिवाय नमः |
ॐ भक्तोदयाय नमः ।ॐ भक्तगम्याय नमः ।ॐ भक्तभाग्यप्रदायकाय नमः ।
ॐ उदधिक्रमणाय नमः | ॐ देवाय नमः | ॐ संसारभयनाशनाय नमः |
ॐ वार्धिबंधनकृदाय नमः ।ॐ विश्वजेताय नमः ।ॐ विश्वप्रतिष्ठिताय नमः | ॐ लंकारये नमः | ॐ कालपुरुषाय नमः | ॐ लंकेशगृह भंजनाय नमः | ॐ भूतावासाय नमः |
ॐ वासुदेवाय नमः | ॐ वसवे नमः |ॐ त्रिभुवनेश्वराय नमः | ॐ श्रीरामरुपाय नमः |
ॐ कृष्णस्तवे नमः | ॐ लंकाप्रासादभंजकाय नमः | ॐ कृष्णाय नमः |
ॐ कृष्णस्तुताय नमः | ॐ शान्ताय नमः | ॐ शान्तिदाय नमः |
ॐ विश्वपावनाय नमः | ॐ विश्वभोक्त्रे नमः ।ॐ मारिघ्नाय नमः | ॐ ब्रह्मचारिणे नमः ।
ॐ जितेन्द्रियाय नमः | ॐ ऊर्ध्वगाय नमः | ॐ लान्गुलिने नमः ।ॐ मालिने नमः।
ॐ लान्गूलाहतराक्षसाय नमः | ॐ समीरतनुजाय नमः | ॐ वीराय नम...

दिनमान

श्री हनुमान चालीसा

1

।।दोहा।। श्री गुरु चरण सरोज रज, निज मन मुकुर सुधार |
बरनौ रघुवर बिमल जसु , जो दायक फल चारि |
बुद्धिहीन तनु जानि के , सुमिरौ पवन कुमार |
बल बुद्धि विद्या देहु मोहि हरहु कलेश विकार ||
जय हनुमान ज्ञान गुन सागर, जय कपीस तिंहु लोक उजागर |
रामदूत अतुलित बल धामा अंजनि पुत्र पवन सुत नामा ||
महाबीर बिक्रम बजरंगी कुमति निवार सुमति के संगी |
कंचन बरन बिराज सुबेसा, कान्हन कुण्डल कुंचित केसा ||
हाथ ब्रज औ ध्वजा विराजे कान्धे मूंज जनेऊ साजे |
शंकर सुवन केसरी नन्दन तेज प्रताप महा जग बन्दन ||
विद्यावान गुनी अति चातुर राम काज करिबे को आतुर |
प्रभु चरित्र सुनिबे को रसिया रामलखन सीता मन बसिया ||
सूक्ष्म रूप धरि सियंहि दिखावा बिकट रूप धरि लंक जरावा |
भीम रूप धरि असुर संहारे रामचन्द्र के काज सवारे ||
लाये सजीवन लखन जियाये श्री रघुबीर हरषि उर लाये |
रघुपति कीन्हि बहुत बड़ाई तुम मम प्रिय भरत सम भाई ||
सहस बदन तुम्हरो जस गावें अस कहि श्रीपति कण्ठ लगावें |
सनकादिक ब्रह्मादि मुनीसा नारद सारद सहित अहीसा ||
जम कुबेर दिगपाल कहाँ ते कबि कोबिद कहि सके कहाँ ते |
तुम उपकार सुग्रीवहिं कीन्हा राम मिलाय राज पद दीन्हा ||
तुम्हरो मन्त्र विभीषन माना लंकेश्वर भये सब जग जाना |
जुग सहस्र जोजन पर भानु लील्यो ताहि मधुर फल जानु ||
प्रभु मुद्रिका मेलि मुख मांहि जलधि लाँघ गये अचरज नाहिं |
दुर्गम काज जगत के जेते सुगम अनुग्रह तुम्हरे तेते ||
राम दुवारे तुम रखवारे होत न आज्ञा बिनु पैसारे |
सब सुख लहे तुम्हारी सरना तुम रक्षक काहें को डरना ||
आपन तेज सम्हारो आपे तीनों लोक हाँक ते काँपे |
भूत पिशाच निकट नहीं आवें महाबीर जब नाम सुनावें ||
नासे रोग हरे सब पीरा जपत निरंतर हनुमत बीरा |
संकट ते हनुमान छुड़ावें मन क्रम बचन ध्यान जो लावें ||
सब पर राम तपस्वी राजा तिनके काज सकल तुम साजा |
और मनोरथ जो कोई लावे सोई अमित जीवन फल पावे ||
चारों जुग परताप तुम्हारा है परसिद्ध जगत उजियारा |
राम रसायन तुम्हरे पासा सदा रहो रघुपति के दासा ||
तुम्हरे भजन राम को पावें जनम जनम के दुख बिसरावें |
अन्त काल रघुबर पुर जाई जहाँ जन्म हरि भक्त कहाई ||
और देवता चित्त न धरई हनुमत सेई सर्व सुख करई |
संकट कटे मिटे सब पीरा जपत निरन्तर हनुमत बलबीरा ||
जय जय जय हनुमान गोसाईं कृपा करो गुरुदेव की नाईं |
जो सत बार पाठ कर कोई छूटई बन्दि महासुख होई ||
जो यह पाठ पढे हनुमान चालीसा होय सिद्धि साखी गौरीसा |
तुलसीदास सदा हरि चेरा कीजै नाथ हृदय मँह डेरा ||
।।दोहा।। पवन तनय संकट हरन मंगल मूरति रूप |
राम लखन सीता सहित हृदय बसहु सुर भूप ||

मंगलवार व्रतकथा

3

 

 

 

ऋषिनगर में केशवदत्त ब्राह्मण अपनी पत्नी अंजलि के साथ रहता था। केशवदत्त के घर में धन-संपत्ति की कोई कमी नहीं थी। नगर में सभी केशवदत्त का सम्मान करते थे, लेकिन केशवदत्त संतान नहीं होने से बहुत चिंतित रहता था।

दोनों पति-पत्नी प्रति मंगलवार को मंदिर में जाकर हनुमानजी की पूजा करते थे। विधिवत मंगलवार का व्रत करते हुए कई वर्ष बीत गए। ब्राह्मण बहुत निराश हो गया, लेकिन उसने व्रत करना नहीं छोड़ा।


कुछ दिनों के बाद केशवदत्त हनुमानजी की पूजा करने के लिए जंगल में चला गया। उसकी पत्नी अंजलि घर में रहकर मंगलवार का व्रत करने लगी। दोनों पति-पत्नी पुत्र-प्राप्ति के लिए मंगलवार का विधिवत व्रत करने लगे। कुछ दिनों बाद अंजलि ने अगले मंगलवार को व्रत किया लेकिन किसी कारणवश उस दिन अंजलि हनुमानजी को भोग नहीं लगा सकी और उस दिन वह सूर्यास्त के बाद भूखी ही सो गई।


अगले मंगलवार को हनुमानजी को भोग लगाए बिना उसने भोजन नहीं करने का प्रण कर लिया। छः दिन तक अंजलि भूखी-प्यासी रही। सातवें दिन मंगलवार को अंजलि ने हनुमानजी की पूजा की, लेकिन तभी भूख-प्यास के कारण अंजलि बेहोश हो गई।


हनुमानजी ने उसे स्वप्न में दर्शन देते हुए कहा- 'उठो पुत्री! मैं तुम्हारी पूजा-पाठ से बहुत प्रसन्न हूँ। तुम्हें सुंदर और सुयोग्य पुत्र होने का वर देता हूँ।' यह कहकर हनुमानजी अंतर्धान हो गए। तत्काल अंजलि ने उठकर हनुमानजी को भोग लगाया और स्वयं भोजन किया।


हनुमानजी की अनुकम्पा से अंजलि ने एक सुंदर शिशु को जन्म दिया। मंगलवार को जन्म लेने के कारण उस बच्चे का नाम मंगलप्रसाद रखा गया। कुछ दिनों बाद अंजलि का पति केशवदत्त भी घर लौट आया। उसने मंगल को देखा तो अंजलि से पूछा- 'यह सुंदर बच्चा किसका है?' अंजलि ने खुश होते हुए हनुमानजी के दर्शन देने और पुत्र प्राप्त होने का वरदान देने की सारी कथा सुना दी। लेकिन केशवदत्त को उसकी बातों पर विश्वास नहीं हुआ। उसके मन में पता नहीं कैसे यह कलुषित विचार आ गया कि अंजलि ने उसके साथ विश्वासघात किया है। अपने पापों को छिपाने के लिए अंजलि झूठ बोल रही है।

केशवदत्त ने उस बच्चे को मार डालने की योजना बनाई। एक दिन केशवदत स्नान के लिए कुएँ पर गया। मंगल भी उसके साथ था। केशवदत्त ने मौका देखकर मंगल को कुएँ में फेंक दिया और घर आकर बहाना बना दिया कि मंगल तो कुएँ पर मेरे पास पहुँचा ही नहीं। केशवदत्त के इतने कहने के ठीक बाद मंगल दौड़ता हुआ घर लौट आया।

केशवदत्त मंगल को देखकर बुरी तरह हैरान हो उठा। उसी रात हनुमानजी ने केशवदत्त को स्वप्न में दर्शन देते हुए कहा- 'तुम दोनों के मंगलवार के व्रत करने से प्रसन्न होकर, पुत्रजन्म का वर मैंने दिया था। फिर तुम अपनी पत्नी को कुलटा क्यों समझते हो!'

उसी समय केशवदत्त ने अंजलि को जगाकर उससे क्षमा माँगते हुए स्वप्न में हनुमानजी के दर्शन देने की सारी कहानी सुनाई। केशवदत्त ने अपने बेटे को हृदय से लगाकर बहुत प्यार किया। उस दिन के बाद सभी आनंदपूर्वक रहने लगे।

मंगलवार का विधिवत व्रत करने से केशवदत्त और उनके सभी कष्ट दूर हो गए। इस तरह जो स्त्री-पुरुष विधिवत मंगलवार का व्रत करके व्रतकथा सुनते हैं, हनुमानजी उनके सभी कष्ट दूर करके घर में धन-संपत्ति का भंडार भर देते हैं। शरीर के सभी रक्त विकार के रोग भी नष्ट हो जाते हैं।

विडियो कनर्वट

1
कल मैने अपनी पोस्ट मे विडियो कनर्वट के बारे मे बताया था। आज मै आपके लिए एक ओर सौफ्टवेयर लाया हु। इसमे हे
Audio/Video Player
Audio/Video Cutter
Audio Converter
Video Converter
Photo Cutter
Photo Resizer
Slide Show
Internet Tools 



           डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Download

डीवीडी को लोड करिए अपनी पसंद के विडियो के रूप में

0
देखिए अपने मोबाइल मे मूवी ये सौफ्टवेयर किसी भी विडियो को कनर्वट करे अपाके मोबाइल के लिए
अगर आपको ये सोफ्टवेयर पूरा चाहिए तो आप मूझे मेल कर सकते है।
मुझसे समपर्क करे 


डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

अगर डबल क्लिक करने पर ड्राइव न खुले

0
डबल क्लिक करने पर भी ड्राइव (C:,D:,E: वगेरे) न खुलना (explore न होना) भी एक समस्या है. अक्सर एक्स पी में ऐसा होता है. हार्ड-डिस्क के ड्राइव पर डबल क्लिक करो तो नए विण्डो में सूची खुलती है, “किस में खोलें?” माना, यहाँ भी एक्सप्लोरर चुन कर ड्राइव को खोला जा सकता है या राइट-क्लिक से एक्सप्लोर कर खोल सकते है, मगर ज्यादातर यह युक्ति भी काम नहीं करती.
मेरे साथ भी ऐसा ही हुआ. कई दिन तो यूँ ही चलाता रहा फिर सोचा कोई हल खोजा जाना चाहिए. सर्च किया तो मिल गया यह सरल-सा इलाज. जी हाँ यह वायरस की वजह से ही होता है, जो अपनी सुरक्षा के लिए हमारे हर ड्राइव में autorun.inf नामक अदृश्य फाइल बना देता है.

क्या आप भी ऐसी समस्या का सामना कर रहें है? तो इसे आजमाएं:  


1.
Start>>Run में जाकर cmd टाइप करें और enter दबायें. इससे command prompt विण्डो खुलेगी.
2. टाइप करें cd\ फिर enter दबायें.
3.  टाइप करें  attrib -r -h -s autorun.inf फिर enter दबायें.
4. टाइप करें del autorun.inf फिर enter दबायें.
5. टाइप करें d: फिर enter दबायें. इससे d: ड्राइव पार्टेशन खुलेगा.  अब चरण 3 तथा 4 को दोहराते हुए चरण 5 तक आएं व d:  के स्थान पर अगले पार्टेशन का नाम लिखें.  सभी पार्टेशन पर इसे दोहराएं. हो जाने पर सिस्टम री-स्टार्ट करें. देखिये समस्या समाप्त हो चुकी है.



यह जानकारी मुझे यहाँ से मिली

डरना मना है

1
THE.GRUDGE. मूवी हिन्दी मे पर इसे देखकर डरना मत क्योकि डरना मना है।


डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

पोर्टेबल कुंडली

1
कुंडली बनाने का सबसे लोकप्रिय सौफ्टवेयर अब पोर्टेबल रूप में इसको इंस्टाल करने की भी जरूरत नही है बस डाउनलोड करे और अपनी कुंडली देंखे।





डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

अपने कंप्यूटर से किसी वेबसाईट को ब्लोक (block) या अनब्लोक (unblock) कैसे करें

3
मुझे बहुत पहले एक ईमेल आयी थी जिसमें किसी ने पूछा था कि किसी वेबसाईट को ब्लोक करने का क्या कोई तरीका है। तो सोचा आज ऐसा ही एक तरीका बता दिया जाये जिससे कोई साईट ब्लोक की जा सके।
क्या आपका कोई छोटा भाई बहन पढ़ाई छोड ओरकुट में ज्यादा ही टाईम व्यतीत कर रहा है? आईये ओरकुट को ब्लोक करके देखते हैं।

अपने कंप्यूटर में File Explorer में जाईये, उसके बाद आपको Drivers फोल्डर ढूँढना है, उदाहरण के लिये Windows XP में ये C:\Windows\System32 के अन्दर मिलेगा। अब Drivers फोल्डर के अंदर etc फोल्डर को ढूँढिये। मिलने पर विंडोज एक्सपी के हिसाब से आप अभी C:\Windows\System32\Drivers\etc फोल्डर में होंगे।

इस फोल्डर के अंदर एक फाईल आपको दिखेगी जिसका नाम होगा HOSTS, इसी फाईल में आपको एक छोटा सा बदलाव करना है। इस फाईल को नोटपेड (Notepad) की सहायता से ओपन कीजिये। (अगर इस फाईल में डबल क्लिक करेंगे तो एक विंडो ओपन होगी जो आपसे पूछेगा किस प्रोग्राम की सहायता से इसे ओपन करना है, नोटपेड को ढूँढिये और उसे सलेक्ट करके उसकी सहायता से ओपन कीजिये)।

फाईल ओपन होने पर इसके अंत में आपको लिखा दिखायी देगा - 127.0.0.1 localhost
बस उसके बाद आपको जिस साईट को ब्लोक करना है उसे सबसे अंत में (यानि फाईल की अंतिम लाईन) इस तरह लिख दीजिये - 127.0.0.2 www.orkut.com उसके बाद फाईल को Save कर दें।
अब अगर आप ओरकुट को ब्राउजर में ओपन करना चाहेंगे तो ये ओपन नही होगी, इसी तरह से आप किसी भी एडल्ट कंटेंट वाली साईट को ब्लोक कर सकते हैं
फिर से ओरकुट को उपयोग में लाने के लिये फाईल में से 127.0.0.2 www.orkut.com लाईन को हटा दीजिये। कोई भी चेंज करने के बाद बदलाव को SAVE करना ना भूलें। अगर आपका ब्राउजर पहले से ही ओपन है तो HOSTS फाईल में किया गये बदलाव को देखने के लिये उसे पहले बंद करें और फिर से ओपन करके ब्राउज करने का ट्राई करें।
मैंने यह फायरफोक्स और IE 8.0 में टेस्ट करके देखा है। ध्यान रहे आपको HOSTS फाईल ढूँढनी है, बदलाव करने के लिये।


यह जानकारी मुझे यहाँ से मिली

ब्लोग मे लगाये अपनी पसन्द के गाने

0
अपने ब्लोग मे लगाये अपनी पसन्द के गाने जैसे मैने लगाये है इस इस साइड पर जाकर आपको बस अपने गाने लोड करने है उसके बाद आपको एक HTML CODE मिलेगा वो कोड आप अपने ब्लोग मे पेस्ट कर दो जैसे मैने करा है।






Powered by eSnips.com



इस साइड पर जाने के लिये यहाँ क्लिक करें

सीडी डीवीडी सोफ्टवेयर

0
एक छोटा सीडी डीवीडी सोफ्टवेयर आपके लिए इसे डाउनलोड करे। ये हल्का सा सोफ्टवेयर आपको भी अच्छा लगेगा। अगर आपको ये सोफ्टवेयर पूरा चाहिए तो आप मूझे मेल कर सकते है।

मुझसे समपर्क करे





डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

नई दुनिया

0
देखिए नये जमाने का नया लेपटोप




 
Name:
Email *
Message With Mobile Number *

Recent Visitors

AddThis Smart Layers

Contact Form

Name

Email *

Message *

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

रीडर पर हर नई पोस्ट पढ़ें