कुछ दोस्त बहुत याद आते है

4
आज आपके लिए कुछ स्पेशल फोटो लाया हु जिसे आप माउस से पकड़ कर किसी भी फोल्डर में सेव कर सकते है और आपके लिए कुछ स्पेशल भी लिख रहा हु जिसे पड़कर शायद आपको भी अपने दोस्तों की याद आ जाएगी


जब याद का किस्सा खोलू 
तो कुछ दोस्त बहुत याद आते है ,
मै गुज़रे पल को सोचु 
तो कुछ दोस्त बहुत याद आते  है,
अब जाने कोन सी नगरी में आबाद है 

मै देर रात तक जागु  तो कुछ 
दोस्त  बहुत याद आते है,
कुछ बाते थी फूलों जैसी,
कुछ लहजे खुशबु जैसे थे,
मैं शहरे चमन में टहलू
तो कुछ दोस्त बहुत याद आते है,

वो पलभर की नाराजगिया,
और मान भी जाना पल भर में,
अब खुद से भी रूठू तो कुछ 
दोस्त बहुत याद आते है ..

मेरे ब्लॉग ने भी अपने दिल की बात बोली है जो की सबसे निचे लिखी है और अब कुछ स्पेशल फोटो जो शायद आपको पसंद आ जाये



















अभी कुछ और भी वालपेपर है जो आपको बहुत पसंद आएंगे और आपके कंप्यूटर की शोभा बढ़ाएंगे अगर आपको ये बेहतरीन वालपेपर अपने कंप्यूटर में सेव करने है किसी भी वालपेपर के ऊपर क्लीक करे जब वो बड़ा हो जाये तो उसे माउश से पकडकर किसी भी फोल्डर में डाल ले निचे उन बेहतरीन वालपेपर को दे रहा हु जो आपको जरुर पसंद आयेंगे 

















और चलते चलते मेरा ब्लॉग भी आपसे कुछ कहना चाहता है

मैं मौसम नहीं जो पल भर में बदल जाऊ 
जमीन से दूर कही और निकल जाऊ 
पुराने वक़्त का सिक्का हु मुझे फेक न देना 
बुरे दिनों में शायद मैं ही चल जाऊ  

Post a Comment

4 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

क्या आप को ये पोस्ट अच्छा लगा तो अपने विचारों से टिपण्णी के रूप में अवगत कराएँ

  1. वाह वाह बहुत सुन्दर वाल पेपर है मैने सेव कर लिये हैं…….…आभार ये तरीका बहुत पसन्द आया।

    ReplyDelete
  2. waah mayank bhai behtar kavita ke saath saath wallpaper bhi
    ye toh sone pe suhaga hua
    samrat bundelkhand by upendra shukla

    ReplyDelete

क्या आप को ये पोस्ट अच्छा लगा तो अपने विचारों से टिपण्णी के रूप में अवगत कराएँ

Post a Comment

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top