अपने बुकमार्क्स को किसी भी कंप्यूटर से खोलने का बेहतरीन तरीका

3

आपने मेरी पिछली पोस्ट में बुकमार्क्स सोफ्टवेयर के बारे में देखा था आज भी मैं आपको ऑनलाइन बुकमार्क्स को सेव करने की बेहतरीन साईट के बारे में बता रहा हु बुकमार्क्स वो सुविधा है जो आपके वेब पेज को सेव कर लेता है और एक ही क्लीक करने पर आपको उस साईट पर पंहुचा देता है जो आपने सेव करी थी बुकमार्क्स न सिर्फ आपका कीमती वक्त बचाते हैं बल्कि पसंदीदा वेब पेज को ढूंढने की जहमत से भी बचाते हैं। अब जरुरी तो नहीं है हम पुरे दिन अपने कंप्यूटर से ही ऑनलाइन हो कभी कभी अपने ऑफिस या किसी और के कंप्यूटर से भी ऑनलाइन होना पड़ सकता है ऐसे में हम सोचते है काश जो आपके कंप्यूटर में बुकमार्क्स सेव है वो इस कंप्यूटर में खुल जाते 
अब आपको ऐसा सोचने की जरुरत नहीं पड़ेगी क्युकी मैं आपको एक ऐसी ऑनलाइन साईट पर लेकर चलता हु जहा आप अपने बुकमार्क को सेव कर सकते है और कही से भी कभी भी खोल सकते है इस साईट की सबसे अच्छी बात ये है की आप किसी भी वेब ब्राउजर का इस्तेमाल कर रहे हो ये सबको स्पोट करता है इसे डालने के बाद आपके वेब ब्राउजर में एक बटन बना हुवा आ जाता है इस पर क्लीक करते ही आपके सारे बुकमार्क्स अपने आप ही ऑनलाइन सेव हो जाते है मेरे लिए तो ये बहुत ही बेहतरीन साईट है आपको पता नहीं पसंद आएगी या नहीं अब मैं कही से भी इंटरनेट का इस्तेमाल करू लेकिन अपने कंप्यूटर के बुकमार्क्स को एक क्लीक करते ही कही से भी खोल सकता हु अगर आप भी ऐसा ही  चाहते है तो यहाँ क्लीक करके वो प्लग इन टूल डाउनलोड कर ले जिससे आपके सारे बुकमार्क्स ऑनलाइन सेव हो जायेंगे जिसे आप अपनी आईडी और पासवर्ड डाल कर ही खोल सकते हो यह इंटरनेट पर बेहतरीन वेबसाइटों की खोज करने के साथ-साथ बुकमार्क्स की सर्च करने और उन्हें ऑगेर्नाइज करने की भी शानदार सुविधा देता है। यह इंटरनेट एक्सप्लोरर, फायरफॉक्स, सफारी और गूगल क्रोम के लिए उपलब्ध है। और इस साईट की सबसे बड़ी खाशियत ये है कि जो साईट आपने बुकमार्क्स करी है उन साईट को  आप बिना खोले बस एक क्लीक करते ही उन साईट को छोटी सी विंडो में देख सकते है 

Post a Comment

3 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

क्या आप को ये पोस्ट अच्छा लगा तो अपने विचारों से टिपण्णी के रूप में अवगत कराएँ

  1. आपकी उम्दा प्रस्तुति कल शनिवार (28.05.2011) को "चर्चा मंच" पर प्रस्तुत की गयी है।आप आये और आकर अपने विचारों से हमे अवगत कराये......"ॐ साई राम" at http://charchamanch.blogspot.com/
    चर्चाकार:Er. सत्यम शिवम (शनिवासरीय चर्चा)

    ReplyDelete
  2. बढिया जानकारी }

    ReplyDelete

क्या आप को ये पोस्ट अच्छा लगा तो अपने विचारों से टिपण्णी के रूप में अवगत कराएँ

Post a Comment

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top