Stellar Data Recovery Services,

डेटा रिकवरी सर्विसेज के विषय में कुछ सामान्य प्रश्न

Stellar Data Recovery Tips
Stellar Data Recovery Tips
यह कहना गलत नहीं होगा कि हम एक डेटा युग में रहते हैं, डेटा युग है क्या? मल्टीनैशनल कंपनियों से लेकर घरों तक, सभी को संचालित करने के लिए डेटा की जरूरत होती है। जहां कंपनियां डेटा को आपस में ही शेयर करती है, वहीं घरों में व्यक्तिगत महत्व के लिए डेटा को सुरक्षित रखतें हैं। कल्पना कीजिए कि अगर अचानक से यह सब डेटा खो जाता है। क्या यह एक तबाही का कारण बन सकता है? खैर, आपको इस बात से सहमत होना होगा कि ये सब स्टोरेज मीडिया पर हमारी निर्भरता का परिणाम है।


इस तरह से डेटा के खो जाने के डर की वजह से बाजार में डेटा रिकवरी सर्विसेज सेवा प्रदाता उपलब्ध हैं। इन स्टोरेज मीडिया पर हमारे निरंतर भरोसे की वजह से भविष्य में डेटा रिकवरी सेवाओं में वृद्धि हो सकती है। लेकिन इस पोस्ट में, हम सिर्फ आपको यह बताना चाहते है कि अगर आपका कोई भी डेटा खो जाये तो आपको चिंता करने की कोई जरुरत नहीं है क्यों की डेटा को रिकवर करने का हमेशा कोई न कोई रास्ता जरूर होता है। आप चिंता ना करें क्यों की भारत में डेटा रिकवरी सेवाएँ काफी भारी संख्या में प्रदान की जाती हैं, और डेटा बैकअप और रिकवरी के लिए विश्वसनीय सॉफ्टवेयर भी उपलब्ध हैं। 

सबसे पहले हम आपको डेटा के बारे में बताएँगे की डेटा है क्या?

Webopedia के अनुसार डेटा का वर्णन कुछ इस तरह है "आम तौर पर एक खास तरीके से स्वरूपित रूप में जानकारी के विशिष्ट टुकड़े"। मूल रूप से विश्लेषण के लिए एकत्र तथ्यों या आंकड़ों को डेटा कहते है। डेटा टेक्स्ट, चित्र, वीडियो या अन्य रूप के रूप में हो सकता है। आम तौर पर डेटा को हार्ड डिस्क ड्राइव, SSDs, पेन ड्राइव, सीडी, डीवीडी या इसी तरह के किसी स्टोरेज मीडिया में स्टोर किया जाता है। 

आप समझ गए कि डेटा क्या है, अब हम आपको समझाएंगे की डेटा रिकवरी क्या है?

किसी भी क्षतिग्रस्त या corrupted स्टोरेज मीडिया से डेटा की पुनर्प्राप्ति करने की प्रक्रिया को ही डेटा रिकवरी कहते है। 
सबसे असफल सुरक्षित डेटा रिकवरी विधि क्या है?
बैकअप! डेटा को किसी दूसरी डिवाइस में सेव करने के तरीके को ही बैकअप कहा जाता है, ताकि डेटा खो जाने पर डेटा को रिकवरी प्रक्रिया के माध्यम से फिर से प्राप्त किया जा सके। आज के समय में, जानकारी बहुत महत्वपूर्ण है इसीलिए, डेटा बैकअप की वजह से खोये हुए डेटा की रिकवरी जल्दी से हो जाती है। 

आप अपनी इन्टरनल स्टोरेज मीडिया से डेटा का बैकअप कैसे कर सकते हैं?

नियमित रूप से एक एक्सटर्नल हार्ड ड्राइव या फ्लैश ड्राइव पर फाइल को कॉपी करने की प्रक्रिया को ही डेटा बैकअप करने का आसान तरीका माना जाता है। आप गूगल ड्राइव की तरह एक क्लाउड सॉफ्टवेयर पर भी डेटा को अपलोड कर सकते है।
सुनिश्चित करें कि सभी महत्वपूर्ण डेटा का बैकअप आपने ने ले लिया है, इसमें स्कैन किये हुए आईडी दस्तावेज, वित्तीय रिकॉर्ड, ग्राहक के विवरण इत्यादि शामिल हो सकते हैं। कभी भी आप अपने पासवर्ड, क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड की कोई भी जानकारी उस स्टोरेज डिवाइस पर सेव ना करें जो आप नियमित रूप से इस्तेमाल करते हैं।

आपने अपने डेटा का बैकअप नहीं लिया है क्या आप उसको रिकवर कर सकते हैं?

जी हां, आपका डेटा ठीक हो सकता है, लेकिन यह किसी भी व्यक्ति द्वारा रिकवर नहीं किया जा सकता। कुछ कंपनियां है जो केवल इस तरह की समस्या का समाधान करने के लिए बनी है जिन्हें हम डेटा रिकवरी कंपनी के नाम से जानते हैं। ये सभी कंपनियां प्रोफेशनल सेवा प्रदान करती हैं और इनकी हार्ड डिस्क रिकवरी, मेमोरी कार्ड रिकवरी, एसडी कार्ड रिकवरी, SSD रिकवरी, RAID रिकवरी आदि में विशेषज्ञता होती है।

लेकिन आप एक डेटा रिकवरी कंपनी का चयन कैसे करें? 
हाँ, यह थोड़ा मुश्किल है की आप किसी भी कंपनी की वेबसाइट देख कर डेटा रिकवरी कंपनी का चयन करे। लेकिन वेबसाइट काफी मददगार हो सकती है। वेबसाइट के माध्यम से आप डेटा रिकवरी सेवा प्रदान करने वाली कंपनी के हेल्पलाइन नंबर से अपने सभी रिकवरी संबंधित प्रश्नों के उत्तर मालूम कर सकते है। एक डेटा रिकवरी कंपनी को चुनने से पहले आपको कुछ जानकारी मालूम करनी होगी जैसे कि कंपनी कितने वर्षो से डेटा रिकवरी कर रही है और डेटा को रिकवर करने में सफलता का क्या ट्रैक रिकॉर्ड है। कंपनी के पास Clean Room की भी सुविधा है आप इसकी भी जाँच करें।

Clean Room क्या है?

मूल रूप से स्टोरेज मीडिया के इन्टरनल डैमेज की मरम्मत के लिए पर्यावरण के मुख्य रूप के अनुसार डेटा रिकवरी कंपनियों द्वारा इस्तेमाल किये जाने वाले कमरे को Clean Room कहते है। इन सभी साफ-कमरों में बहुत कम वायु प्रदूषण होता है, यानि की स्टोरेज मीडिया को नुकसान पहुँचाने वाले धूल के कणों का स्तर बहुत कम होता है।
हालांकि, आप को ज्ञात होना चाहिए कि आपका डेटा आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण है और अक्सर जो कंपनिया बहुत कम कीमतों पर डेटा रिकवरी का प्रस्ताव रखती हैं उनके पास से डेटा चोरी होने की सम्भावना रहती है।

क्या डेटा रिकवरी आपकी जेब के लिए महंगी हो सकती हैं?

हाँ, कई बार यह बहुत महंगी हो सकती हैं, लेकिन कंपनी डेटा को ठीक करने के लिए जिस तरह का काम करती है, उसकी कीमत ज्यादा नहीं है। अगर स्टोरेज मीडिया बाहरी रूप से क्षतिग्रस्त है, तो कंपनी क्षतिग्रस्त पार्ट्स को खोज कर उन्हें बदलती है। इसके अलावा कुछ कंपनिया आपके अनुसार बताये गए डेटा को रिकवर करने के बाद ही 100% भुगतान स्वीकार करती हैं।

अंत में, किस प्रकार के स्टोरेज मीडिया से डेटा रिकवर किया जा सकता है?

हम जानते है की किसी भी तरह के स्टोरेज डिवाइस  से डेटा का लॉस हो सकता है चाहे वो डिवाइस के टूटने या किसी virus की वजह से हो। Stellar Data Recovery नें पिछले 23 सालों में क्षतिग्रस्त और virus corrupted जैसी स्टोरेज डिवाइस से सफलतापूर्वक डेटा प्राप्त किया है। स्टेलर डेटा रिकवरी एक ISO 9001:2008 प्रमाणित कंपनी है और इसने हार्ड डिस्क डेटा रिकवरी, SSD डेटा रिकवरी, SD Card डेटा रिकवरी, RAID और NAS डेटा रिकवरी, E-Mail रिकवरी इत्यादि रिकवरी सेवा में विशेषज्ञता हासिल की हुई है।



Share To:

Mayank Bhardwaj

                    ------------चेतावनी----------- 

इस profile में लिखी गयी सारी बातें सत्य घटना पर आधारित हैं । इन बातों का किसी और व्यक्ति/घटना से किसी भी प्रकार से मिलना (वैसे किसी से मिलेगी नही) महज़ एक संयोग समझा जाएगा । ********************** मैं एक नम्बर का लुच्चा, लफंगा, आवारा, बद्तमीज़, नालायक, बदमाश, दुष्ट, पापी, राक्षस (और जो बच गया हो उसे भी जोड़ लो) कतई नही हूँ यार । हाँ दारू, सुट्टा, गाँजा, अफ़ीम, हेरोइन वगैरह……अबे ये सब भी नही पीता हूँ यार मैं बहुत होनहार , सीधा-साधा , सबको प्यार करने वाला , नेक दिल , ईमानदार, हिम्मती, शरीफ़ (अबे पूरे शरीर से शराफ़त टपकती है भाई), भोलाभाला (बस भोला हूँ भाला वगैरह नही रखता यार………अबे आदिवासी ठोड़े ही हूँ) लडका हूँ 

Post A Comment:

1 comments so far,Add yours

  1. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल शनिवार (21-05-2016) को "अगर तू है, तो कहाँ है" (चर्चा अंक-2349) पर भी होगी।
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    --
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete

क्या आप को ये पोस्ट अच्छा लगा तो अपने विचारों से टिपण्णी के रूप में अवगत कराएँ