google hindi input


आपने मेरी पिछली पोस्ट में पढ़ा था कि आप किस तरह अपने मोबाइल में हिंदी में लिख सकते है मेरी इस पोस्ट को आप यहाँ क्लिक करके देख सकते है आज की पोस्ट के जरिये मैं आपको पीसी में हिंदी में लिखने का तरीका बताने वाला हु वैसे तो विंडोे में हिंदी में लिखने के लिए हिंदी फोंड की जरूरत पड़ती है लेकिन बहुत से लोग ऐसे है जो चाहते है वो इंग्लिश में लिखे और वो हिंदी में अपने आप बदल जाए जैसे की ऑनलाइन हिंदी टाइपिंग में होता है आज की पोस्ट के जरिये आप बिना हिंदी फोंड के अपनी विंडो में भी ठीक वैसे ही हिंदी में लिख पाओगे जैसे आप ऑनलाइन लिखते हो हिंदी में लिखने के लिए आपको गूगल के उस टूल की जरूरत पड़ेगी जो आपकी साहयता करेगा हिंदी में लिखने के लिए
अगर आप अपने सिस्टम में हिंदी में लिखना चाहते है या फिर फेसबुक पर हिंदी में लिख कर चेटिंग करना चाहते है तो सबसे पहले इस साइट पर जाए और चित्र के अनुसार हिंदी पर क्लिक करके गूगल का बेहतरीन टूल डाउनलोड करे 
इसके बाद इसे अपने  सिस्टम में इस्टाल करे इस्टाल करते ही सबसे निचे इसका आइकन आ जायेगा आइकन आने के बाद चित्र के अनुसार हिंदी पर क्लिक कर दे हिंदी पर क्लिक करते ही निचे Hi लिखा आ जायेगा जैसे आप ऊपर चित्र में देख रहे है अब आप तैयार हो कही भी हिंदी में लिखने के लिए
अब अगर आप फेसबुक पर हिंदी में चेट करना चाहते है तो फेसबुक आईडी खोलकर चित्र के अनुसार टाइप करे जो भी आप लिखोगे वो हिंदी में आ जायेगा
अगर आप किसी डॉक्यूमेंट में हिंदी में लिखना चाहते है तो उसे खोले और चित्र के अनुसार टाइप करना शुरू कर दे जो भी आप लिखोगे वो हिंदी में आ जायेगा और जब आपको हिंदी की जरूरत ना हो तो दुबारा से निचे सेटिंग से इंग्लिश को सलेक्ट कर ले
इस तरह आप बहुत ही आराम से बिना हिंदी फोंड के अपने पीसी में हिंदी में लिख सकते है किसी से भी हिंदी में चेटिंग कर सकते है और गूगल पर कुछ भी हिंदी में लिख कर सर्च कर सकते है

भगवान की अनोखी दुनिया आप सभी के लिए
Share To:

Mayank Bhardwaj

                    ------------चेतावनी----------- 
इस profile में लिखी गयी सारी बातें सत्य घटना पर आधारित हैं । इन बातों का किसी और व्यक्ति/घटना से किसी भी प्रकार से मिलना (वैसे किसी से मिलेगी नही) महज़ एक संयोग समझा जाएगा । ********************** मैं एक नम्बर का लुच्चा, लफंगा, आवारा, बद्तमीज़, नालायक, बदमाश, दुष्ट, पापी, राक्षस (और जो बच गया हो उसे भी जोड़ लो) कतई नही हूँ यार । हाँ दारू, सुट्टा, गाँजा, अफ़ीम, हेरोइन वगैरह……अबे ये सब भी नही पीता हूँ यार मैं बहुत होनहार , सीधा-साधा , सबको प्यार करने वाला , नेक दिल , ईमानदार, हिम्मती, शरीफ़ (अबे पूरे शरीर से शराफ़त टपकती है भाई), भोलाभाला (बस भोला हूँ भाला वगैरह नही रखता यार………अबे आदिवासी ठोड़े ही हूँ) लडका हूँ 

Post A Comment:

3 comments so far,Add yours

  1. आपकी इस प्रस्तुति का लिंक 27-11-2014 को चर्चा मंच पर चर्चा - 1810 में दिया गया है
    आभार

    ReplyDelete
  2. बहुत ही अच्छा सर जी

    ReplyDelete

क्या आप को ये पोस्ट अच्छा लगा तो अपने विचारों से टिपण्णी के रूप में अवगत कराएँ