gmail email seting in hindi


वेब आधारित सेवाओ में सर्च के अलावा ईमेल लगभग हर यूजर की जरूरत बन चुकी है। 1990 के दशक के दूसरे चरण मे याहू यूएसएनेट और हाटमेल जैसी ईमेल सेवाएं तेजी से लोकप्रिय हुई। अलबत्ता बाद मे गूगल ने 2004 मे अपनी ईमेल सेवा जीमेल शुरू की तो अपने नए फीचर्स के चलते वह करोडों यूजर्स को अपनी ओर खींचने में सफल रही। इस ई-मेल सेवा में ऐसी कई सुविधाएं है जो दूसरो मे नही। अगर आप जीमेल का पूरा इस्तेमाल करना चाहते है तो इन सुविधाओं को जरूर आजमाएं।

बैकअप करें
अगर आपको अपने जीमेल अकाउंट में आने वाली मेल के गलती से डिलीट हो जाने की आशंका है तो आप हर ईमेल की प्रति किसी अन्य ईमेल खाते मे स्थानांतरित कर सकते है। आपके ईमेल खाते मे जो भी मेल आएगी वह स्वतः दूसरे ईमेल खाते मे पहुच जाएगी। इसके लिए जीमेल की सेटिंग्स खोलिए, अब फारवर्डिग एंड पीओपी-आईएमएपी पर क्लिक कीजिए। अब फारवर्डिग सेक्शन में फारवर्ड ए कॉपी ऑफ इनकमिंग मेल के सामने अपना वैकल्पिक ईमेल खाता लिख दें। अगर आपने कई जीमेल खोले है तो आप उन सबकी ईमेल इस तरीके से किसी एक ईमेल एकाउंट में मंगा सकते है।

फिल्टर
अगर आप किसी खास व्यक्ति का ईमेल देखना ही नही चाहते या किसी विशेष स्रोत से आई ईमेल को एक अलग लेबर देना चाहते है तो फिल्टर का प्रयोग कीजिए। इस सुविधा के जरिए आप किसी विशेष व्यक्ति की सभी ईमेल पर स्वतः स्टार निशान अंकित करने को निर्देश भी दे सकते है और उन्हे फारवर्ड भी कर सकते है। यानी बिना ईमेल पढ़े बहुत कुछ करने की आजादी। तरीका सीधा सा है जीमेल पेज के उपर की ओर बने क्रिएट ए फिल्टर लिंक पर क्लिक कीजिए। इसमें सबंधित ईमेल को अलग से पहचानने के लिए जरूरी सूचनाएं दीजिए और क्रिएट फिल्टर बटन दबा दीजिए। आपको ढेर सारे झंझटो से बचाने वाली सुविधा तैयार है।

रेडीमेड रिप्लाई
अगर आपके पास बहुत ज्यादा ईमेल आते है और सबके जवाब देने के लिए समय नही है तो कोई बात नही, जीमेल मे पहले से ही कुछ रेडीमेड जवाब तैयार करके रख लीजिए और उन्हे भेजकर समय बचाइए। इसके लिए आपको मेलबाक्स के सबसे उपर दिए गए गूगल के लिंक्स मे मोर पर क्लिक करते हुए गूगल लैब्स की यूटिलिटीज तक पहुंचना होगा और वहां दाई ओर दिए लिंक्स में से जीमेल लैब्स को क्लिक करना होगा अब दिखाई जाने वाली सूची में कैन्ड रेस्पोन्सेज को इनेबल कर लीजए। अब अपने रेडीमेड रेस्पोंस तैयार किजिए जैसे धन्यवाद, मै जल्दी आपको उत्तर भेजता हूं या फिर कैसे है आदि। इसके लिए कम्पोज मेल पर क्लिक कीजिए और खुलने वाले कम्पोज बॉक्स मे सब्जेक्ट लाइन के ठीक नीचे कैन्ड रेस्पोन्स के जरिए आप अपने रेडिमेड जवाब तैयार कर सकते है। इन्हे भेजने के लिए भी इसी लिंक का प्रयोग किजिए।

आर्काइव
अपने जीमेल इन बॉक्स को साफसुथरा रखने के लिए आर्काइव सुविधा का प्रयोग करें। पुराने पड़ चुके ईमेल संदेशों को सिलेक्ट करें और आर्काइव बटन दबाएं। चुने हुए सभी संदेश इनबॉक्स से गायब हो जाएंगे। मगर वे गए कहां वे जीमेल में ही मोजूद है औ आप चाहे तो बाई तरफ दिए गए विकल्पो मे ऑल मेल नामक लिंक दबाकर उन्हे देख सकते है। अगर यह लिंक दिखाई न दे तो थोडी सी खोजबीन करें यह ६ मोर या ऐसे ही अन्य किसी लिंक के पिछे छिपा होगा। उपयोगी चीजो को खोजने के लिए मेहनत करनी ही पड ती है
Share To:

Mayank Bhardwaj

                    ------------चेतावनी----------- 

इस profile में लिखी गयी सारी बातें सत्य घटना पर आधारित हैं । इन बातों का किसी और व्यक्ति/घटना से किसी भी प्रकार से मिलना (वैसे किसी से मिलेगी नही) महज़ एक संयोग समझा जाएगा । ********************** मैं एक नम्बर का लुच्चा, लफंगा, आवारा, बद्तमीज़, नालायक, बदमाश, दुष्ट, पापी, राक्षस (और जो बच गया हो उसे भी जोड़ लो) कतई नही हूँ यार । हाँ दारू, सुट्टा, गाँजा, अफ़ीम, हेरोइन वगैरह……अबे ये सब भी नही पीता हूँ यार मैं बहुत होनहार , सीधा-साधा , सबको प्यार करने वाला , नेक दिल , ईमानदार, हिम्मती, शरीफ़ (अबे पूरे शरीर से शराफ़त टपकती है भाई), भोलाभाला (बस भोला हूँ भाला वगैरह नही रखता यार………अबे आदिवासी ठोड़े ही हूँ) लडका हूँ 

Post A Comment:

4 comments so far,Add yours

  1. आपकी अति उत्तम रचना कल के साप्ताहिक चर्चा मंच पर सुशोभित हो रही है । कल (3-1-20211) के चर्चा मंच पर आकर अपने विचारों से अवगत कराइयेगा और हमारा हौसला बढाइयेगा।

    http://charchamanch.uchcharan.com

    ReplyDelete
  2. अच्छी पोस्ट , नववर्ष की शुभकामनाएं । "खबरों की दुनियाँ"

    ReplyDelete

क्या आप को ये पोस्ट अच्छा लगा तो अपने विचारों से टिपण्णी के रूप में अवगत कराएँ