1. कम्प्यूटर पर काम करते समय आपको अगर एम एस ऑफिस/ वर्ड खोलना हो तो आप क्या करेंगे? सबसे पहले Start पर क्लिक करेंगे उसके बाद आप Programme=>Microsoft Office पर क्लिक करना होगा। यानि ज्यादा समय खर्च होगा। ऐसी और भी कई एप्लीकेशन होंगी जिसे आपको programme में खोजना पड़ेगा। अगर आप इस झंझट से बचना चाहें तो आपके लिये एक मजेदार टूल प्रस्तुत है। इस टूल का नाम है "लांची".

    यह यूनिकोड को भी सपोर्ट करता है इसमें कोई भी भी शब्द लिख कर उसे सीधे गूगल में खोजा जा सकता है

    इस टूल को डाउनलोड करने और इन्स्टाल करने के बाद यह चुपचाप छिपकर काम करता रहता है। जब भी आपको कोई एप्लीकेशन खोलनी हो बस एक बार Alt और स्पेसबार दबा दीजिये यह टूल सामने दिखने लगेगा। जहाँ कर्सर ब्लिंक हो रहा है आप अपनी मनपसन्द एप्लीकेशन के एकाद शब्द लिखिये ( मसलन पावर पोइन्ट के लिये Power , एक्सेल के लिये Exc आदि)  और जैसे ही एप्लीकेशन दिखे आप इन्टर मार दीजिये, बस कुछ ही सैकण्ड में एप्लीकेशन खुल जायेगी। इससे एप्लीक्शन खोलने पर मुझे कुछ ज्यादा तेज खुलने की गति  कुछ ज्यादा तेज महसूस होती है।
     
    तो मित्रों आपको लगता है कि यह टूल आपके काम आ सकता है तो  आप इस टूल लांची को नीचे दिये गये लिंक  से डाउनलोड कर सकते हैं, एक बार इसे आजमा कर देखिये बहुत काम की चीज है। और हाँ लीनीक्स प्रेमियों के लिये भी यह उपलब्ध है।


    डाउनलोड करने यहाँ क्लिक करें

Share To:

Mayank Bhardwaj

                    ------------चेतावनी----------- 

इस profile में लिखी गयी सारी बातें सत्य घटना पर आधारित हैं । इन बातों का किसी और व्यक्ति/घटना से किसी भी प्रकार से मिलना (वैसे किसी से मिलेगी नही) महज़ एक संयोग समझा जाएगा । ********************** मैं एक नम्बर का लुच्चा, लफंगा, आवारा, बद्तमीज़, नालायक, बदमाश, दुष्ट, पापी, राक्षस (और जो बच गया हो उसे भी जोड़ लो) कतई नही हूँ यार । हाँ दारू, सुट्टा, गाँजा, अफ़ीम, हेरोइन वगैरह……अबे ये सब भी नही पीता हूँ यार मैं बहुत होनहार , सीधा-साधा , सबको प्यार करने वाला , नेक दिल , ईमानदार, हिम्मती, शरीफ़ (अबे पूरे शरीर से शराफ़त टपकती है भाई), भोलाभाला (बस भोला हूँ भाला वगैरह नही रखता यार………अबे आदिवासी ठोड़े ही हूँ) लडका हूँ 

Post A Comment:

0 comments so far,add yours

क्या आप को ये पोस्ट अच्छा लगा तो अपने विचारों से टिपण्णी के रूप में अवगत कराएँ